Khajur Ke Fayde और दुष्प्रभाव जानें | खजूर कब और कैसे खाएं ?

khajur ke fayde

अनुक्रम

नमस्कार दोस्तों, आज हम आपको Khajur Ke Fayde के बारे में बताएँगे और ये भी बताएँगे की इसे कब और कैसे खाना है। खजूर की बात करें तो ये अरब देशों में पैदा होने वाला स्वादिष्ट पौष्टिक मेवा है। जिसको Dry Dates भी कहा जाता है और बहुत से लोग इसे पिंड खजूर भी कहते हैं।

बहुत से लोगों ने हमको ये बोला की आप thehindiguide वेबसाइट के माध्यम से Khajur Ke Fayde Bataye इसीलिए ये लेख बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला इसे ध्यान से पूरा पढ़ें।

हम सब जानते हैं की खजूर हमारे शरीर को बहुत शक्ति देता है और इसको खाने से हमारे शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। जो सेहत की दृष्टि से बहुत गुणकारी है।

खजूर में 60% से 70% तक शक़्कर पायी जाती है। इसमें आयरन, कैल्शियम, मिनरल्स, अमीनो एसिड, पोटाशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस और कॉपर जैसे पोषक तत्व काफी अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं।

Khajur हमारी त्वचा (Skin) के लिए संजीवनी बूटी की तरह काम करते हैं। जिस तरह Jackfruit यानि कटहल हमें कई बिमारियों से बचाता है वैसे ही खजूर में भी बहुत सारे गुण पाए जाते हैं।

Glucose और Fructose का खज़ाना खजूर, शरीर को बलवर्धक बनाने में सहायक होने के साथ ही Immune Power को भी बढ़ाता है।

इसमें Cholesterol नहीं होता और एक खजूर से 23 कैलोरी मिलती है। इसका सेवन करने से हमारा शरीर कई तरह की बिमारियों से भी बचा रहता है।

Dates Khajur Ke Fayde In Hindi सूखे और नरम खजूर खाने के फायदे

अब बात करते हैं की खजूर खाने से हमारे शरीर के कौन कौन से अंगों में अच्छे परिणाम देखने को मिलते हैं।

1. हृदय (दिल) को स्वस्थ्य रखे | Makes Heart Stronger

खजूर हमारे हृदय (दिल) के लिए बहुत ही अच्छा है, हम कह सकते हैं की खजूर के अंदर जो मैग्नीशियम और पोटाशियम है ये दो ऐसे तत्व हैं जो हमारे दिल को ताकत देते हैं।

ये शरीर में कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं जिसके कारण हमारा Blood Pressure कंट्रोल में रहता है।

इन्ही गुणों के कारण हमारा दिल अच्छे से काम कर पाता है। इसके साथ ही खजूर में पोटाशियम की मात्रा होने के कारण ये हमें दिल का दौरा यानि हार्ट अटैक होने से भी बचाता है।

तो हमने जाना की किस तरह से खजूर हमारे हृदय (दिल) को स्वास्थ्य रखने में मदद करता है।

2. पाचन तंत्र दरुस्त बनाये | Improve Digestive System with Khajur (Dates)

खजूर हमारे पाचन तंत्र के लिए बहुत गुणकारी है। ये हमारे पाचन तंत्र की क्रिया को मजबूत बनाता है। खजूर के अंदर फाइबर बहुत ज़्यादा होता है जिस कारण ये हमारी आँतों की मज़बूती देता है और हम जो भी खाना खाते हैं उसे पचाने में मदद मिलती है।

फाइबर की मात्रा ज़्यादा होने के कारण ये हमें कब्ज़ (Constipation) दूर करने में भी राहत देता है यानि अगर आप कब्ज़ से परेशान रहते हैं। और कहीं न कहीं आपको लगता है की आपका पाचन तंत्र अच्छे से काम नहीं कर रहा है तो आपको खजूर का सेवन ज़रूर करना चाहिए।

फाइबर के और भी बहुत फायदे हैं जैसे की आपको पेट में खालीपन लगता है। आपका वज़न काफी तेज़ी से बढ़ रहा है और आप मोटापे का शिकार हो रहे हैं तो आपको खजूर को अपने आहार में ज़रूर शामिल करना चाहिए।

3. खून की कमी को पूरा करे | Increase Blood In Cells

खजूर के अंदर विटामिन C और आयरन भी पाया जाता है। इसलिए अगर कोई अनीमिया जैसी बीमारी का शिकार है और शरीर में रक्त की बहुत कमी हो गयी है। या फिर खून की कमी के कारण शरीर थका थका सा रहता है तो खजूर का सेवन शरीर में खून की मात्रा बढ़ा देता है। जिस कारण अनीमिया जैसी बीमारी से बचा जा सकता है।

ये भी पढ़ें :-

4. दिमाग को चुस्त रखे और स्मरण शक्ति बढ़ाये | Improve Brain Power With Dates

इसी के साथ एक और फायदा ये है की खजूर हमारे दिमाग को ताकत देता है। यानि की जो लोग खजूर का सेवन करते हैं उनकी स्मरण शक्ति बहुत अच्छे बढ़ती है। उनको दिमाग में कोई थकावट महसूस नहीं होती और इस वजह से नींद भी अच्छी आती है।

5. रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए Khajur Khane Ke Fayde | Make Immune System Healthy

खजूर हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी मज़बूती देता है। जैसे की जो लोग बार बार बीमार पड़ जाते हैं खासकर की वो लोग जिनको सर्दियों में ज़ुकाम, खांसी बार बार हो जाता है। तो उन्हें खजूर ज़रूर खाना चाहिए क्यूंकि ये हमारे Immune System को मज़बूत करता है। जिससे हम बार बार बीमार होने से बचे रहते हैं।

6. हड्डियां को मज़बूत बनाये | Bone Makes Stronger and Healthier

इसी तरह से खजूर में मैग्नीशियम, सेलिनियम और कॉपर होने के कारण ये हमारी हड्डियों को मज़बूती देता है। अगर आपको हड्डियों में कहीं कहीं दर्द होता है या फिर जिन लोगों को गठिया है या फिर जोड़ों में दर्द रहता है। तो उन लोगों को इस दर्द से छुटकारा पाने में खजूर अत्यंत लाभकारी माना जाता है।

7. दांतो को स्वस्थ और मज़बूत बनाये | Khajur Ke Fayde To Cure Teeth Problems Naturally

इसमें कैल्शियम होने के कारण ये हड्डियों को तो मज़बूत बनाता ही है। इसके साथ ही उन लोगों को भी खजूर ज़रूर खाना चाहिए जिनके दांत कमज़ोर हैं और जो छोटे बच्चे जिनके दांत अच्छे से नहीं आते। इसमें कैल्शियम की मात्रा काफी अच्छी पायी जाती है जिससे ये दांतों को भी मज़बूत बनाता है और उनके अच्छे से विकास करने में मदद करता है।

8. आंखों की रोशनी बढ़ाये | Benefits of Dates in Hindi For Eyesight

दोस्तों, खजूर विटामिन A का भी बहुत अच्छा स्रोत है। अगर आप इसका सेवन नियमित करते हैं तो आपकी आँखों की रौशनी अच्छी बनी रहेगी। और वह लोग जिनको अंधराता की बीमारी है उनके लिए भी खजूर बहुत अच्छा फ़ल है।

9. गर्भावस्था में लाभकारी | Khajur Ke Fayde in Pregnancy

गर्भवती महिलाओं को भी खजूर को अपने आहार में शामिल करना चाहिए क्यूंकि ये उनको शारीरिक शक्ति देने में मदद करेगा। इसके साथ ही गर्भावस्था में अक्सर जब खून की कमी होती है तो उसे पूरा करने में भी खजूर मदद करता है।

ये गर्भाशय को भी मज़बूती देता है। गर्भवती महिला के शरीर के अंदर ऊर्जा बनाये रखता है। और जो महिलायें अपने शिशु को स्तनपान कराती हैं उनके लिए भी खजूर बहुत अच्छा फ़ल है क्यूंकि ये दूध के उत्पादन को बढ़ा देता है।

नोट :- इसके साथ ही हम आपको ये भी कहना चाहेंगे की अगर गर्भवती महिलाओं को खजूर का सेवन करना है तो कृपया पहले अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें। ताकि बाद में कोई परेशानी ना हो।

10. खजूर से चमकती दमकती त्वचा पाएं | Khajur Ke Fayde Skin Ke Liye

Dates यानि खजूर विटामिन D और विटामिन C से भरपूर है इसीलिए ये हमारी त्वचा के लिए भी बहुत फायदेमंद है। ये हमारी त्वचा में निखार लाता है। जो लोग खजूर का सेवन करते हैं उनकी त्वचा हमेशा कोमल बनी रहती है और झुर्रियां भी धीरे धीरे कम हो जाती हैं।

11. बालों को घना और रेशमी बनाये रखे | Dates (Khajoor) Benefits for Hair

आयरन और विटामिन B5 होने के कारण ये हमारे केश यानि बालों के लिए बहुत बढ़िया है। जिन लोगों के बाल बहुत ज़्यादा झड़ते हैं, दो मुँहे बाल हैं या फिर बालों में रूखापन है उनको खजूर ज़रूर खाते रहना चाहिए। क्यूंकि ये बालों को स्वास्थ्य बनाता है जिस कारण बाल झड़ने कम हो जाते हैं और उनमे एक नयी चमक आ जाती है।

12. यौन शक्ति बढ़ाये | Increase Sex Drive With Khajur (Dates) in Hindi

जैसे की हमने बात की खजूर प्रोटीन से भरपूर है और इसमें कई तरह के Amino Acids पाए जाते हैं। जिस कारण पुरुष या महिला जो भी हैं उनके अंदर यौन शक्ति और शारीरिक शक्ति को बढ़ाता है।

तो वह लोग जिनको अपने वैवाहिक जीवन के अंदर या युवा अवस्था में अपने शरीर के अंदर यौन शक्ति की कमी महसूस होती है। चाहे वह पुरुष हो या महिला है उनको खजूर ज़रूर खाना चाहिए।

इसी तरह से वो लोग जिनको लगता है की उनके अंदर शुक्राणुओं की कमी और वीर्य अच्छे से नहीं बन रहा है। उनको भी हम खजूर खाने की सलाह देंगे क्यूंकि खजूर पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है। इसके सेवन से आप देखंगे की आपके अंदर वीर्य अच्छे से बनना शुरू हो गया है और शुक्राणुओं की कमी भी अब दूर होने लग गयी है।

13. मूत्र मार्ग में संक्रमण से बचाये | Cure Urine Infection

दोस्तों वह लोग जो वृद्ध अवस्था में आ गए हैं और उनको लगता की उनकी शारीरिक शक्ति या यौन शक्ति कम हो गयी है। इसके साथ में उनको लगता है की उनको Prostate या मूत्र मार्ग में संक्रमण की शिकायत हो गयी है। जिसके कारण उनको खासकर रात में बार बार पेशाब करने के लिए उठना पड़ता है।

उन्हें खजूर ज़रूर खाना चाहिए। क्यूंकि खजूर आपके मूत्राशय (Urinary System) को स्वास्थ्य रखता है और उसे मज़बूत बनाता है।

अगर आपका मूत्राशय यानि (Urinary System) सही से काम करेगा तो आपकी यौन शक्ति भी वापिस आ जाएगी। और कहीं न कहीं आपकी जो Prostate की शिकायत है उसको भी दूर करने में खजूर आपकी मदद करेगा।

14. बच्चों के रोग में खजूर का उपयोग | Khajur ke fayde for Children’s in hindi

जो छोटे बच्चे रात को पेशाब से बिस्तर गीला कर देते हैं उनके लिए भी खजूर बहुत गुणकारी है। इसके प्रयोग करने की विधि इस प्रकार है। इसके लिए लिए 2 से 3 खजूर को दूध में अच्छे से उबाल लें। जब दूध गाढ़ा हो जाए तो इसे थोड़ा ठंडा करके बच्चे को पिलाएं। इससे उनकी बिस्तर में पेशाब करने की आदत दूर हो जाएगी।

आप लड्डू के रूप में भी खजूर का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए खजूर को कूटकर, काले तिल को भून कर लड्डू बना लें और बच्चों को इसका नियमित सेवन कराएं। ये उपयोग करने से भी बच्चों की रात को बिस्तर गीला करने की समस्या दूर हो जाएगी।

विशेष नोट : खजूर बहुत ही मीठा होता है जिस कारण से यह शरीर में खून की शुगर के स्तर को एक दम से बढ़ा देता है। अत : मधुमेह के रोगियों को इसका सेवन करने से बचना चाहिए।

Frequently Asked Questions – खजूर के बारे पूछे जाने वाले प्रश्न

  • खजूर कितने प्रकार के होते हैं ? Types Of Khajur (Dates) In Hindi

Khajur Benfits and their types in hindi
Different Types Of Khajur (Dates) in Hindi

आम तौर पर आसानी से मिलने वाले खजूर दो प्रकार के होते हैं। एक होता है सूखा खजूर जिसे हम आम भाषा में छुवारा भी बोलते हैं। कुछ लोग इसे पिंड खजूर कह कर भी बुलाते हैं, Pind Khajur Khane Ke Fayde आप इस लेख में आसानी से पता कर सकते हैं।

ये खजूर (छुवारा) हमें पंसारी की दूकान पर आम मिल जाता है। वास्तव में दोनों होते खजूर ही हैं बस जब खजूर को सूखा लिया जाता है तो छुवारा बोल देते हैं। इसे कई तरह की दवाईंया, घर के खाने के व्यंजन आदि में इस्तेमाल किया जाता है।

दूसरा जो खजूर का प्रकार है वह थोड़ा गीला, चिपचिपा होता है। ये कई तरह की गुणवत्ता में बाजार में मिल जाता है। अगर आपको Imported खजूर यानी बाहर के देशों से लाया गया खजूर चाहिए तो वह भी बड़ी बड़ी Grocery की दुकानों में आराम से मिल जाता है। बस इसका दाम थोड़ा ज़्यादा होता है। पर इसकी गुणवत्ता बहुत उच्च होती है ये बिना किसी मिलावट के बना होता है।

और बाकी देशों में मिलने वाले खजूर के बारे में बात करें तो ये लगभग 10 प्रकार के मिल जाते हैं। आइए जानते हैं खजूर की और कौन कौन सी किस्में होती हैं।

  1. अज्वा खजूर – Ajwa Dates

    ये खाने में बहुत मीठे और कोमल होते हैं। इसका ज़्यादातर काला होता है। ऐसा माना जाता है की अगर कोई रोज़ सुबह 7 अज्वा खजूर का सेवन करे तो उस पर किसी भी तरह के विष का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। सबसे श्रेष्ठ और लोकप्रिय होने के कारण इसका दाम काफी ज़्यादा होता है।

  2. अम्बर खजूर – Amber Dates

    अज्वा खजूर की तरह अम्बर खजूर भी काफी महंगा मिलता है। यह बाकी खजूरों की तुलना में आकार में बढ़ा होता है और इसमें जो बीज होता है वह भी काफी छोटा होता है। यह देखने में भूरे रंग का होता है और इसमें काफी मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है।

  3. सफावी खजूर – Safawi Dates

    इसका रंग भी काला होता है और इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। अगर इसे सुबह खाली पेट खाया जाए तो ये पेट के कीड़ों यानी Stomach Worms को ख़त्म कर देता है। इसके इन्ही गुणों के कारण इसे सबसे बढ़िया खजूर कहा जाता है।

  4. बरही खजूर – Barhi Dates बरही एक अरबी भाषा का शब्द है जिसका मतलब है गरम हवाएं। ये जाने जाते हैं अपने पीले रंग की वजह से। जब से फ़ल पक कर पूरी तरह से तैयार हो जाता है तो इसका स्वाद ब्राउन शुगर या कैरेमल की तरह आता है। इन्हे कच्चे खजूर भी कहा जाता है। जिन्हे ज़्यादा मीठे खजूर पसंद नहीं होते वह इन पीले बरही खजूर को खाना पसंद करते हैं।
  5. सगाई खजूर – Sagai Dates

    सगाई खजूर खाने में बहुत बढ़िया होता है, यह काफी कुरमुरा होता है। ये हलके पीले रंग का होता है और इसकी मिठास हलकी मीठी होती है।

  6. खुदरी खजूर – Khudri Dates

    ये गाढ़े भूरे रंग का होता है और ये बिलकुल सूखा होता है। इसकी मिठास काफी अधिक होती है। खजूर की ये किस्म मधुमेह रोगियों को नहीं देनी चाहिए। इस खजूर में काफी मात्रा में फाइबर, मैग्नीशियम, पोटाशियम पाया जाता है। इसका दाम काफी वाजिब होता है जिस कारण काफी लोग इसे पसंद करते हैं।

  7. सुक्कारी खजूर – Sukkari Dates

    सुक्कारी भी अरबी भाषा का शब्द है जिसका मतलब है सुकुर यानि की शुगर। जैसा की इसका नाम है वैसे ही यह खाने में काफी मीठा और कुरमुरा होता है। सुक्कारी खजूर दांतों की बिमारियों में काफी लाभकारी होता है और शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है। साउथ एशिया में सुक्कारी खजूर का सेवन काफी ज़्यादा किया जाता है।

  8. ज़ाहिदी खजूर – Zahidi Dates

    यह खजूर जाने जाते हैं अपने सुनहरे रंग और अंडाकार आकार की वजह से। ये काफी कोमल होता है और इसमें काफी मात्रा में फाइबर पाया जाता है। इसमें Low Sugar Content होता है मतलब शुगर की मात्रा कम होती है।

  9. मेडजूल खजूर Medjool Dates

    इसे खजूरों की रानी कहा जाता है क्यूंकि इसका आकार काफी बढ़ा होता है और ये खाने में काफी रसीला होता है। ये खजूर अमरीका में काफी लोकप्रिय है और इसका उपयोग ज़्यादातर शेक्स बनाने में किया जाता है। खजूर की यह किस्म साल के 12 महीने बाज़ार में उपलब्ध रहती है। इसमें कैल्शियम काफी होता है और यह शरीर की रोज़ की 20% फाइबर की कमी को पूरा कर देता है। यह खजूर भी काफी महंगा होता है दाम में।

  10. खोलास खजूर – Kholas Dates

    यह भी एक सबसे श्रेष्ठ किस्म में आता है और इसका उत्पादन सऊदी अरब देश में किया जाता है। खोलास का स्वाद कैरेमल की तरह होता है। इसे यहाँ के लोग अरबिक काफी यानी खावा के साथ खाना पसंद करते हैं।

  • खजूर को कैसे खाएं ? How to Eat Dates in Hindi

ये विधि जो हम आपको बताने जा रहे हैं वह आपको सर्दियों में करनी है। आपको रात में एक गिलास दूध लेना है और इसे अच्छे से उबाल लेना ताकि अच्छे से गरम हो जाए। अब इसमें 3 खजूर डाल दें। अब रात भर इसे ढक कर रख दें। सुबह उठने के बाद आप इस पूरे गिलास दूध को नाश्ते के बाद पी लें। और जो 3 खजूर इसमें डाले थे उन्हें भी अच्छे से चबा कर खा लें। ध्यान रहे खजूर खाने से पहले उसकी गुठली निकाल कर फेंक दें, गुठली निगले नहीं।

आप इसका सेवन बस 2 से 3 महीने तक नियमित कर लें। जब यह प्रकिर्या आप शुरू कर देंगे तो पहले हफ्ते से ही आपको अपने शरीर में चुस्ती, स्फूर्ति देखने को मिल जायेगी। आपके शरीर में जो परिवर्तन होने लगेगा वह आपको अच्छे से समझ में आने लग जायेगा।

  • खजूर की तासीर ठंडी है या गर्म ? 

दोस्तों Khajur Ke Fayde जानने से पहले आपको इसके बारे में पूरा ज्ञान होना भी ज़रूरी है। ताकि अगर आपसे कोई खजूर के बारे में कोई सवाल पूछे तो आप उसे आसानी से इसका उत्तर दे सकें।

आयुर्वेद कहता है खजूरी का फलं शीतम, खजूर का फ़ल ठंडा होता है यानि खजूर की जो तासीर होती है वह ठंडी होती है। बहुत से लोगों को ऐसा लगता है की खजूर गरम होते हैं। खजूर खाने से फोड़े, फुंसी आती है और शरीर में गर्मी बढ़ जाती है।

लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है खजूर का फ़ल को आयुर्वेद में ठंडा बताया गया है।

तो फिर कुछ लोगों ने हमसे ये प्रश्न किया की खजूर खाने से शरीर में फोड़े, फुंसी क्यों हो जाते हैं ?
इसका उत्तर ये है की जब शरीर में फोड़े, फुंसी आ जाती है तो संस्कृत भाषा में आयुर्वेद में ऐसे बताया गया है, कफ़ मारूद रक्त जा। मतलब शरीर में कफ और हवा बिगड़ेगी या फिर खून साफ़ नहीं होगा तो फोड़े, फुंसियां होती हैं।

दोस्तों, खजूर खाने में बहुत मीठा होता है इसलिए हो सकता है ज़्यादा कफ बढ़ने के कारण या जिनका पाचन कमज़ोर है ऐसे लोगों को फोड़े, फुंसियां आती हों।

आपको शायद पता होगा की खजूर ऐसे इलाकों में पाया जाता है जहाँ भीषण गर्मी पड़ती है। खजूर गरम इलाके में उगता है इसलिए इसकी तासीर ठंडी होती है।

  • कफ की बीमारी में Khajur ke Fayde क्या हैं ?

जिनको कफ की बिमारी है, बलगम की शिकायत रहती है, वे 15-20 खजूर का बीज निकाल लें और उसको (खजूर) दूध में पकाएं। जब दूध गाढ़ा हो जाए तब उसका सेवन कर लें। ऐसा करने से कफ सम्बंधित सब बीमारियां दूर हो जाएंगी।

  • खजूर की पत्तियों के क्या लाभ होते हैं ?

खजूर की पत्तियां अत्यंद मूतर्ल हैं। जिन लोगों को पेशाब से सम्बंधित परेशानी है, जिसमें पेशाब कम आता हो या पेशाब करने में जलन महसूस होती हो वह खजूर की पत्तियों को पीस कर इसका शरबत बना कर पीएं।

ये नुस्खा पेशाब से सम्बंधित बिमारियों को दूर करने में अत्यंत लाभकारी माना गया है। यदि आप मधुमेह के रोगी नहीं हैं तो इसमें मिश्री मिला कर भी इसका सेवन कर सकते हैं।

  • क्या गुर्दे (किडनी) के रोगी को खजूर का सेवन करना चाहिए ?

गुर्दे (किडनी) के रोगियों को खाने में कई तरह की हिदायतें दी जाती हैं। क्यूंकि खराब खान पान गुर्दे (किडनी) की परेशानी को बढ़ा सकता है। इसीलिए किडनी के मरीजों को खजूर यानि Dates को खाने के लिए मना किया जाता है। इसके कई कारण हैं जो हम आपको अभी बताएँगे।

1. गुर्दे (किडनी) संक्रमण की सम्भावना बढ़ाना :-
कुछ रोगियों को खजूर के सेवन करने से गुर्दे (किडनी) में संक्रमण होने की समस्या शुरू हो जाती है। इसलिए उनके आहार में खजूर को शामिल नहीं किया जाता।

2. वज़न तेज़ी से बढ़ाता है :-
ज़्यादा खजूर खाने से आपके वज़न में अनियमित बढ़ोतरी होने लगती है। क्यूंकि खजूर के 100 ग्राम मात्रा 127 कैलोरी होती है और साथ ही इसमें फैट काफी मात्रा में होता है जो की गुर्दे (किडनी) पर दुष्प्रभाव डालता है।

इसका सही मात्रा में सेवन किया जाए तो ये हड्डियों को मजबूत बनाता है। लेकिन अगर किडनी के रोगी इसका सेवन सही मात्रा में न करें तो ये हड्डयों को कमज़ोर कर देता है। ऐसा इसलिए क्यूंकि इसमें भारी मात्रा Phosphorus पाया जाता है।

3 . शुगर की बिमारी :-
खजूर रक्त में ग्लूकोस के स्तर बढ़ाता है जिससे शरीर में शुगर की समस्या उत्पन्न हो जाती है। शरीर में ग्लूकोस का स्तर न सिर्फ गुर्दे (किडनी) की बिमारी का कारण बनता बल्कि और भी कई बीमारियां इसके साथ शुरू हो जाती है।

Khajur Nutrition Value Chart in Hindi

पोषण गुणवत्ता प्रति एक कप (147 ग्राम) :-

कैलोरी414
टोटल फैट0.6 ग्राम
सोडियम2.9 मि. ग्राम
पोटाशियम964.3 मि. ग्राम
कार्बोहाइड्रेट्स110 ग्राम
डाइटरी फाइबर12 ग्राम
शुगर93 ग्राम
प्रोटीन3.6 ग्राम
कैल्शियम5%
विटामिन C1%
आयरन8%
विटामिन B-610%
मैग्नीशियम15%

 

खजूर खाने के नुक्सान – Khajur (Dates) Ke Side Effects in Hindi

दोस्तों खजूर के जितने फायदे हैं उतने इसके नुक्सान नहीं है, इसके उकसान ना मात्र ही हैं। तो चलिए बात करते हैं इसके कुछ चुनिंदा नुकसानों के बारे में।

इसका पहला नुक्सान यह है की इसका बहुत ज़्यादा मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए। क्यूंकि इसमें पायी जाने वाली चीनी आपके शरीर में रक्त शुगर के स्तर को बढ़ा देगी। इसलिए मधुमेह के मरीज़ों को इसे नहीं खाना चाहिए। अगर वह इसे ज़्यादा खाते हैं तो उनमे मधुमेह का खतरा ज़्यादा हो जाता है।

दूसरा नुक्सान यह है की इसका ज़्यादा सेवन पेट में लूज मोशन की समस्या को भी उत्पन्न कर देता है। कभी कभी इसके सेवन से पेट में गैस की भी परेशानी भी जाती है।

निष्कर्ष – Conclusion On Khajur Ke Fayde Article

अंत में हम यही कहना चाहेंगे की आप खजूर को अपने आहार में ज़रूर शामिल करें। इसके सेवन के शुरू के दिनों में ही आपको इसके महत्वपूर्ण लाभ देखने को मिल जाएंगे। इसके सेवन से आप पेट, हृदय, हड्डियों से सम्बंधित अनेकों रोगों से अपने शरीर को बचा सकते हैं। आपको सम्बंधित Khajur ke fayde पर ये पूरा लेख (आर्टिकल) कैसा लगा, अपने विचार हमसे ज़रूर सांझा करें।

About अरुण शर्मा 25 Articles
नमस्कार दोस्तों, में अरुण शर्मा इस ब्लॉग का ऑथर हूँ, और एक अनुभवी ब्लागर (Blogger) भी। इस ब्लॉग के माध्यम से मैं सेहत , तकनीकी , भू-गौलिक व , मनोरंजन जैसी विशेष जानकारी आपके साथ साँझा करूँगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*