Gud Ke Fayde हिंदी में Black Jaggery के चम्तकारिक प्रयोग जाने

अनुक्रम

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप The Hindi Guide ब्लॉग में आपका बहुत-बहुत स्वागत है। आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं गुड़ के फायदे (Gud Ke Fayde) बारे में और गुड़ के बारे में पूरी जानकारी आपको देने की कोशिश करेंगे। हम सब जानते हैं कि गुड़ खाने में इस्तेमाल किया जाता है और यह बहुत स्वादिष्ट होता है, इसका स्वाद मीठा होता है। मगर क्या आप जानते हैं सिर्फ खाने के लिए ही इसका इस्तेमाल नहीं किया जाता है। इसके अलावा गुड़ के और भी हमें फायदे होते हैं जो शायद आपको कभी पता भी नहीं होंगे।

पुरातन काल से अभी के काल तक मिठाई या मीठा खाना एक तरीके से बहुत ही शुभ माना जाता है और इस मीठी श्रेणी के अंदर इस गुड़ का भी प्रयोग काफी ज्यादा होता है। केवल सिर्फ खाने के काम ही नहीं आता है बल्कि गुड़ से बहुत सारी ऐसी चीजें होती है जो शायद आपको पहले कभी ना पता हों। और गुड़ के खाने से जो फायदे मिलते हैं वह काफी ज्यादा आश्चर्यजनक होते हैं। क्योंकि गुड़ के अंदर बहुत सारे अच्छे तत्व होते हैं जो हमारे शरीर को पोष्टिक करने में सहायक होते हैं।

हैरान कर देने वाले गुड़ के फायदे – Jaggery, Gud Ke Fayde In Hindi

गुड़ खाने के बहुत सारे फायदे हमें मिले जाते हैं जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं। मगर इसका मतलब यह नहीं है कि हम इसको रोजाना जिंदगी में खाने के तौर पर ज़्यादा मात्रा में इसको खाएं। हालांकि यह एक ऐसी चीज है जिसको हम थोड़ी थोड़ी मात्रा में खा सकते हैं आइए जानते हैं गुड़ के फायदे के बारे में।

1. खून की कमी को दूर करे – Increase Blood in Body

increase blood with jaggery (gud)

हम अपना रोजाना आहार पूरा नहीं कर पाते हैं जिसकी वजह से शरीर में खून की कमी (Anemia) हो जाती है। जब खून की कमी होती है तब हमारा वजन भी कम हो जाता है। वजन के साथ साथ खून का कम होना एक बहुत बड़ा संकेत होता है।

और इसकी वजह से हमारे शरीर में काफी ज्यादा बीमारियां लगने का भी खतरा हो सकता है। अगर आप गुड़ का सेवन करेंगे तब आपकी यह बीमारी दूर हो जाएगी। आपका रक्त संचालन अच्छी तरीके से काम करेगा और रक्त बढ़ने में भी काफी ज्यादा मदद मिलेगी।

2. सर्दी ज़ुकाम से बचाये – Gud Ke Fayde Best For Cough And Cold

सर्दी-जुकाम किस को नहीं होता है यह बहुत आम चीज है। और बहुत वायरल चीज होती है जो बच्चों को भी हो जाती है। और कुछ कुछ लोगों को तो यह 12-12 महीने तक टिकी रहती है कभी भी खत्म नहीं होती है। सर्दी जुकाम को दूर करने के लिए काफी ज्यादा दवाइयों का खर्चा भी करना पड़ता है।

तब भी इसका असर नहीं होता है। अगर हम गुड़ की बात करें तो गुड़ की तासीर गर्म गर्म होती है। अगर आप गुड़ का सेवन करेंगे तब उसकी गर्मी से सर्दी और जुकाम में काफी ज्यादा फर्क आएगा। इसीलिए आपको हफ्ते में एक-दो बार गुड़ का सेवन जरूर करना चाहिए।

3. हड्डियों को मज़बूत करे – Gud Ke Fayde For Bones

गुड़ के अंदर काफी अच्छी मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाने में काफी ज्यादा सहायक होता है। और हड्डियां काफी इससे लचीली बनी रहती है, लचीलापन कम नहीं होता है। अक्सर हमने देखा होगा की हड्डियों का काफी दर्द रहता है वह जोड़ों का दर्द होता है, तो गुड़ खाने से यह भी नहीं होता है।

ये भी पढ़ें – ड्रैगन फ्रूट के स्वास्थ्यवर्धक फायदे

4. गर्भावस्था में गुड़ खाने के फायदे – Gud Khaane Ke Fayde in Pregnancy

Gud Khane Ke Fayde in Pregnancy : अगर कोई प्रेग्नेंट है तो क्या उसे गुड़ खाना चाहिए? जी हां उसे गुड़ खाना चाहिए। क्योंकि गुड़ में बहुत सारे अच्छे पौष्टिक तत्व होते हैं जो मां और बच्चे दोनों के लिए काफी ज्यादा सहायक होते हैं और जरूरी भी होते हैं। गुड़ माँ और बच्चे दोनो को ताकत देता है।

क्योंकि इससे खून की कमी नहीं होती है सर्दी जुकाम जैसी बीमारियां नहीं होती है और इससे दिमाग की शक्ति काफी ज्यादा बढ़ जाती है। उसी के साथ साथ हड्डियों का मजबूत पर भी बढ़ने लग जाता है। इसीलिए प्रेगनेंसी में गुड़ खाने के फायदे बहुत सारे हैं।

5. खाली पेट गुड़ खाने के फायदे – Khali Pet Gud Khane Ke Fayde

अगर आप खाली पेट गुड़ खाना चाहते हो और यह जानना चाहते हो खाली पेट गुड़ खाने के फायदे क्या हो सकते हैं। पर यहां भी गुड़ आपके लिए काफी ज्यादा मददगार साबित होगा। सुबह उठकर अगर आप खाली पेट गुड़ को खाओगे तब आपके पाचन तंत्र में काफी ज्यादा बढ़ोतरी होगी।

पाचन तंत्र मजबूत हो जाएगा और पेट से जुड़ी बहुत सारी चीजें कंट्रोल हो जाएगी। ऐसा करने से ब्लड शुगर लेवल भी कंट्रोल हो जाएगा साथ ही साथ में आप का शरूर एक्टिव रहेगा। आलस आपको बिल्कुल भी नहीं आएगा। खाली पेट गुड़ खाने के फायदे और भी बहुत सारे हैं।

जब आप गुड को खाओगे तब आप खुद से जान जाओगे।

6. पुराने गुड़ के फायदे – Purane Gud Ke Fayde

बहुत सारे लोगों का यह कहना होता है कि पुराने गुड़ के फायदे से क्या फर्क पड़ता है नया गुड़ भी खाकर उसका काफी ज्यादा फायदा हम ले सकते हैं। मगर असली बात तो यह है कि जो नया नया गुड़ होता है वह अलग प्रकार का होता है और जो गुड़ पुराना गुण होता है कुछ ज्यादा ताकतवर होता है।

आपने अक्सर देखा होगा कि लोग हमेशा काला गुड़ खाना पसंद करते हैं। क्योंकि काले गुड में जितनी ज्यादा शक्ति और संभावना होती है शरीर को ताकत देने कि वह नए गुड़ में नहीं होती है इसीलिए पुराना गुड़ खाना बहुत ज्यादा सहायक है।

मान लीजिए अगर आप गुड़ लेकर आए हैं तब उसको एक-दो महीना रखें उसके बाद ही खाएं ऐसा करने से आपको काफी लाभ होगा।

ये भी पढ़ें – Khajur Ke Fayde और दुष्प्रभाव जानें

गुड़ कब खाना चाहिए – Gud Kab Khana Chahiye

Best Time to Eat Jaggery In Hindi – हमें गुड़ कब खाना चाहिए ये सवाल तो मन में आता ही है। वैसे तो गुड़ खाने का कोई भी मौसम नहीं होता है मगर हां इसका ज्ञान, कुछ आपको बातों का ध्यान रखना पड़ता है। जब आपको गुड़ खाना है तब किस मौसम में खाना है? कब खाना है? और कैसे खाना है। यह सब जब तक आप को पता नहीं होता तब तक आप गुड़ का सेवन ना करें,

क्योंकि गुड एक गर्म पदार्थ होता है और अगर आप इसका रोजाना सेवन गर्मियों में करेंगे तब आपके शरीर में हीट की प्रॉब्लम आने लगेगी। हालांकि यह आपको सर्दियों के मौसम में और बारिश के मौसम में काफी ज्यादा राहत देगा। मगर आपको हफ्ते में एक या दो बार से ज्यादा इसका सेवन नहीं करना है।

गुड़ को ख़राब होने से कैसे बचा सकते हैं ?

अब बात करते हैं की गुड़ को खराब होने से कैसे बचाया जा सकता है यानि अगर हम गुड़ को ऐसे ही बिना स्टोर किये रख देते हैं तो ये खराब हो जाता है। गर्मियों के दिनों में अगर गुड़ को संभाल कर न रखा जाए तो ये पूरी तरह से पिघल जाता है और इसमें फंगस यानि उल्ली भी लग जाती है। हम आपको एक ऐसा उपाय बताएँगे जिससे आपका गुड़ एक साल ख़राब नहीं होगा।

इसके लिए आपको चाहिए टिशू पेपर, प्लास्टिक का ज़िप लोग बैग (लिफाफा) और एक एयर टाइट कंटेनर (डिब्बा)। सबसे पहले गुड़ को टिशू पेपर में अच्छे से रैप कर लें और प्लास्टिक के ज़िप लोग बैग में डाल कर ज़िप को अच्छे से बन कर दें। अब इसको एक एक एयर टाइट कंटेनर (डिब्बे) में बंद करके अपने फ्रिज में रख दें। ऐसा करने से आपका गुड़ सुरक्षित रहेगा अब ना ही ये पिघलेगा और ना ही इसमें किसी प्रकार की फंगस यानि उल्ली लगेगी। कम से कम एक साल तक ये गुड़ वैसा का वैसा ही रहेगा जैसे आपने इसे डिब्बे में रखा था।

कैसे करें नकली और असली (शुद्ध) गुड़ की पहचान ?

gud ke fayde aur nuksaan
Gud Ke Fayde Aur Nuksaan

दोस्तों आपको पता होगा बाजार में कई प्रकार के गुड़ आते हैं जैसे एक हल्का सफेद गुड़, एक भूरे रंग का गुड़ और एक हलके काले रंग का गुड़।

गुड़ का सेवन हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी होता है। मगर उस गुड़ में अगर रसायन मिलाये गए हों तो वह गुड़ ज़हर की तरह बन जाता है। और शरीर को लाभ पहुंचाने की बजाए हानि पहुंचा देता है। आपको शायद पता होगा आज 40-50 साल पहले लोग गुड़ की ही चाय पीना पसंद करते थे। जिस कारण उनकी सेहत भी अच्छी रहती थी। क्यूंकि वह बिलकुल शुद्ध गुड़ होता था। पर आज कल बाज़ार में कई तरह के मिलावटी गुड़ आने लगे हैं जिनके सेवन से हमें बचना चाहिए। तो चलिए जानते हैं शुद्ध गुड़ और रासायनिक गुड़ की पहचान कैसे करे।

पीला गुड़ यानि मिलावटी गुड़ :

गुड़ की शुद्धता को चेक करने के लिए आप गुड़ की चाय बनाये और अगर चाय बनाते बनाते दूध फट्ट जाता है तो वह 100% मिलावटी गुड़ होगा। और दूसरी स्थिति में अगर दूध नहीं फटता और चाय गाड़े रंग की बन जाती है तो वे शुद्ध गुड़ होगा। ये एक साधारण सा तरीका है असली गुड़ की पहचान करने का।

एक और बात का ध्यान दें जो मिलावटी गुड़ होता है उसमें रसायन डालने से उसका रंग पीला पड़ जाता है। जो रसायन गुड़ में डाला जाता है उसे फॉस्फेट कहते हैं। ये रसायन युक्त गुड़ हमारी सेहत के लिए बहुत हानिकारक होता है। तो अगर आप बाज़ार में गुड़ की खरीदारी करने जाएँ तो ध्यान दें गुड़ ज़्यादा पीला न हो।

काला गुड़ यानि शुद्ध गुड़ : 

जो 100% शुद्ध गुड़ होता है वह काले रंग का होता है आपने अपने घर के बज़ुर्गो से सुना होगा की वह काले गुड़ को प्राथमिकता देते थे। क्यूंकि इस गुड़ में किसी भी तरह की मिलावट नहीं होती है इसलिए ये रंग में काला होता है। तो जब भी आप गुड़ खरीदें तो जांच परख कर ही लें और रंग ज़रुर देखें की काला ही हो।

गुड़ के नुक्सान – Jaggery (Gud) Side Effects in Hindi

गुड़ को काफी लोग अपनी रोज़ाना आहार में शामिल करते हैं। गुड़ को खाने के फायदे ये तो हम सभी जानते ही हैं। लेकिन दोस्तों क्या आप जानते हैं की गुड़ को खाने का भी एक सही समय और तरीका होता है। यदि आप गुड़ को रोज़ाना अनियमित मात्रा में खाएंगे तो इसके कुछ नुक्सान (Gud Ke Side Effects) भी हो सकते हैं।

अब हम बताएँगे की अगर आप गुड़ का सेवन करते हैं तो आपको किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे की आपकी सेहत को कोई नुक्सान ना पहुंचे। गुड़ काफी सारे भारतीय व्यंजनों में इस्तेमाल किया जाता है और भी कई ऐसे कई तरह के व्यंजन हैं भारतीय के इलावा जिनमे गुड़ का इस्तेमाल किया जाता है।

गुड़ यानि चीनी जी हाँ दोस्तों गुड़ एक तरह से चीनी का विकल्प है और इसे काफी लोग चीनी की जगह इस्तेमाल भी करते हैं। इसको बिमारी के उपचार में भी इस्तेमाल किया है। तो इसलिए गुड़ के खाने के काफी फायदे होते हैं और नुक्सान भी।

अब बात करते हैं की इसके सेवन से क्या क्या नुक्सान हो सकते हैं।

पहला नुक्सान – First Side Effect of Jaggery in Hindi

1 . क्यूंकि गुड़ एक चीनी का विकल्प है इसलिए ऐसे व्यक्ति जिन्हे डायबटीज़ यानि मधुमेह की बीमारी है। वह लोग कृपया गुड़ के सेवन को कम कर दें और हो सके तो पूरी तरह से इसका सेवन बंद कर दें। नहीं तो इससे आपके डायबटीज़ यानि मधुमेह की बीमारी ज़्यादा घातक रूप ले सकती है।

दूसरा नुक्सान – Second Side Effect of Jaggery in Hindi

2 . यदि आप गुड़ का सेवन अधिक मात्रा में करते हैं तो इससे आपके शरीर का वज़न बहुत तेज़ी से बढ़ने लगेगा और एक समय पर आप मोटापे जैसी बीमारी से ग्रसित हो जाएंगे। ऐसे लोग जो दुबले पतले होते हैं और अपना वज़न बढ़ाना चाहते हैं तो उन्हें भी गुड़ का सेवन एक नियमित मात्रा में ही करना चाहिए। कहीं ऐसा ना हो वज़न बढ़ाने के साथ साथ आओ मोटापे के शिकार ना हो जाएँ। इसलिए आपको इस बात का ध्यान रखना आवश्यक है।

तीसरा नुक्सान – Third Side Effect of Jaggery in Hindi

3 . यदि आप गुड़ का सेवन एक लम्बे समय तक करते यानि बिना कोई अंतराल डाले तो इससे आपकी आँतों में कीड़े पैदा हो जायेंगे और ये धीरे धीरे पूरे शरीर में भी फ़ैल सकते हैं। लेकिन ये आँतों के कीड़े मुख्य रूप से आपकी आंतो पर ही ज़्यादा बुरा प्रभाव डालते हैं, जिससे आपके पेट में दर्द होने लगता है। और ऐसा होने से अनीमिया और गैस जैसी बीमारिया आपके शरीर को लग जाती हैं।

गुड़ का इस्तेमाल करते वक़्त क्या क्या सावधानिया बरतनी चाहिए ?

इसलिए दोस्तों गुड़ खाने के लिए कुछ सावधानिया बरतनी चाहिए जो की आगे हम बताएँगे।

  • आपको एक दिन में 10 ग्राम गुड़ का ही सेवन करना चाहिए। याद रखें अगर आप इससे ज़्यादा मात्रा में गुड़ का सेवन करते हैं तो आपको इसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं।
  • यदि आप Ulcerative Colitis बीमारी से पीड़ित हैं तो आपको गुड़ का सेवन पूर्ण रूप से बंद कर देना चाहिए। नहीं तो ये आपकी दिक्कत को और बढ़ा सकता है।
  • ऐसे लोग जो मच्छी को आहार में लेते हैं या फिर जो लोग रोज़ाना मच्छी खाते हैं उन लोगों को भी गुड़ के सेवन से बचना चाहिए। या फिर हो सके तो इन दोनों चीज़ों (मच्छी और गुड़ ) को साथ में ना खाएं।
  • यदि आपको सूजन है, इंफ्लेमेटरी डिजीज (Inflammation Disorder) है तो इस स्थिति में भी आपको गुड़ का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • दोस्तों आजकल गुड़ बनाने के लिए बहुत सारे रसायनों (Chemicals) का इस्तेमाल किया जाने लगा है तो इसलिए आपको गुड़ की गुणवत्ता को ज़रूर जांचना चाहिए। आपको ये ज़रूर पता लगाना चाहिए की यह सही गुड़ है या नहीं। क्यूंकि अब पहले की तरह प्रकृतिक शुद्ध गुड़ आना कम हो गए हैं। और इनमें बहुत सारे आर्टिफिशल फ्लेवर्स का इस्तेमाल किया जाने लगा है।

Last Words

तो दोस्तों यह थी पोस्ट Gud Ke Fayde के बारे में और आज हमने आपको गुड़ के बारे में पूरी जानकारी आपको देने की कोशिश की है । आशा है आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आयी होगी। ऐसे ही heath tips related post के notifications को पाने के लिए हमारे वेबसाइट पर आते रहिये। आपका हमारी आज की यह पोस्ट को पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद्।

Leave a Comment