Home Technical Machine Learning क्या है | Machine Learning के Advantages जानें 2021 में

Machine Learning क्या है | Machine Learning के Advantages जानें 2021 में

by Rohan Mathew
Machine Learning क्या है

Machine Learning क्या है, अगर आप आधुनिक युग की बात करें तो आप पाएंगे कि यह युग पूर्ण रूप से मशीनों पर ही निर्भर हो चुका है। जहां छोटे-छोटे चीजों से लेकर बड़ी कंपनी और फैक्ट्रियों में भी मशीनों का ही खास उपयोग किया जाता रहा है। ये Machine Learning क्या है इसका चलन क्यों इतना हो रहा है चलिए जानते हैं।

हम जिस विषय के बारे में आपसे बात करने जा रहे हैं वह है तो मशीनों के बारे में लेकिन लीक से कुछ हटकर। हमारा आज का विषय है मशीन लर्निंग।

आजकल Machine Learning का यह शब्द बहुत आसानी से सुना और समझा जा सकता है। दरअसल Machine Learning ऐसा Technical term जो ऑटोमेटिक ही Able हो जाता है, किसी भी प्रोग्राम को समझने और उसे सुचारू रूप से चलाने के लिए।

आज हम   मशीन लर्निंग के बारे में विस्तृत से जानकारी देंगे ताकि आप आसानी से इसे समझ सकें।

तो बिना देर किये चलिए विस्तार से जानते हैं की आखिर “मशीन लर्निंग क्या होती है  और Types of Machine Learning in Hindi.

Machine Learning क्या है – What is Machine Learning Detail In Hindi

सुनने में थोड़ा अजीब लगने वाला यह शब्द Machine Learning  बेहद काम का साबित होता है। यह एक प्रकार का एप्लीकेशन है, जो Artificial intelligence सिस्टम को खुद ही सीख कर आगे बढ़ता है और किसी प्रकार की कमी होने पर खुद को IMPROVE भी कर सकता है। Machine Learning हमेशा होने वाले डेवलपमेंट को ही फोकस करता है।

इसका मुख्य उद्देश्य ही होता है कि बिना ह्यूमन सपोर्ट के खुद को सही मायनों में Adjust कर पाना।

इन्हे भी पढ़ें :

Machine Learning के प्रकार – Types of Machine Learning In Hindi

Machine लर्निंग के 4 मुख्य भाग होते हैं

1). Supervised Machine Learning Algorithms–

यह Algorithms  बहुत ही काम का होता है। यह कई बार हम इंसानों में काम आता है जिसमें past से सीख कर हम आगे बढ़ते हैं और बेहतर करने की उम्मीद करते हैं। उसी प्रकार यह past में सीखे गए उपयोग किए गए डाटा को नए डाटा में कन्वर्ट करते हैं और इससे future के प्रोग्राम को सही दिशा में आगे बढ़ा पाते हैं। यह आमतौर पर आसानी से Inferred function  को समझ सकता है। साथ ही साथ Intended output  के साथ किसी भी errorको ढूंढने का भी काम करता है और फिर सुधार की गुंजाइश भी रहती है।

2). Unsupervised Machine Learning Algorithms–

इस Algorithms का उपयोग सिस्टम को किसी दूसरे जगह रिफर करने में किया जाता है। यह ऐसा फंक्शन होता है जिसमें Unlabelled data से छिपे हुए Structure  को describe  कर  सकें। यह हमेशा से ही किसी data को Explore  करने का काम करती है। इसका मकसद Unlabelled data की मदद से छिपे हुए structure को describe  करना है।

3). Semi supervised Machine Learning Algorithms–

यह हमेशा माध्यम का कार्य करता है, जो Algorithms  और Unsupervised learning के बीच आता है। यह हमेशा Labelled  और unlabelled डाटा के अंतर्गत इस्तेमाल किया जाता है।

इसमें इस्तेमाल किए गए डाटा आसानी से ही अपनी लर्निंग कैपेसिटी को इंप्रूव कर सकता है और खुद को बेहतर बना सकता है।

4). Reinforcement Machine Learning Algorithms–

यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण विधि होती है, जो दूसरे कामों के साथ Error  को भी पहचानने की कोशिश करता है। यह तब तक उपयोग किया जाता है, जब किसी विशेष गतिविधि को खुद से ही पता लगाना हो और भविष्य में बेहतर काम कर सके।

Machine Learning का उपयोग

हम अपने आसपास कई प्रकार के Machine Learning के उपयोग देख सकते हैं। कई बार हमें इसके बारे में ज्यादा ज्ञान नहीं होता तो आज हम आपको सही जानकारी देने जा रहे हैं।

1). जब भी ऑनलाइन शॉपिंग की जाती है, तो वहां Machine Learning अपना उपयोग बखूबी कर पाते हैं।

2). जब भी Google translate  में आप कोई जानकारी लेते हैं, तो वहां भी मशीन लर्निंग अपना उपयोग स्वयं ही कर लेता है।

3). ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान सर्च की गई सामान आपको बार-बार सोशल मीडिया में नजर आता है, यह भी Machine Learning  के कारण ही होता है।

4). जब इंटरनेट ऑन किया जाए तो आपने देखा होगा कि आपके हिसाब से ही विज्ञापन नजर आते हैं यह सब भी मशीन लर्निंग से ही संभव है।

Machine Learning के काम करने के तरीके

कई बार जब आप ऑनलाइन वेबसाइट से खरीदारी करते हैं, तो आपने देखा होगा कि आपको कई प्रकार के ऑप्शन नजर आते हैं जिसमें color, fabric, brand, price  आ जाता है। हमारी पसंद  को Advertising platform target कर लेते हैं और जिसके बाद हमारी पसंद के प्रोडक्ट अपने आप ही नजर आने लगते हैं।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि प्रोग्राम हमारी गतिविधि को रिकॉर्ड कर लेता है। मशीन लर्निंग कस्टमर के पसंद को पढ़कर उसी प्रकार से खुद को सेट कर लेता है जिससे कस्टमर को फायदा होता है।

Healthcare industry में भी इसका उपयोग किया जाता है, जो कैंसर जैसे बड़े रोगों को पहचानने में कारगर है। जिसमें कैंसर सेल को डिटेक्ट करने में मशीन लर्निंग अपना योगदान भी दे रही है।

Machine Learning के प्रमुख Prerequisite

अगर आप मशीन लर्निंग के बारे में सीखना चाहते हैं तो पहले pre requisite के बारे में भी सीखना होगा जो आप इनसे सीख सकते हैं|

1).  Linear Algebra

2).  Calculus

3 ).  Graph theory

4).   Statistics

5).   Programming skills

Machine Learning के फायदे – Benefits of Machine Learning in Hindi

अगर आप आने वाले समय की बात करें तो निश्चित रूप से भविष्य में Machine Learning और भी कारगर होने वाला है जिससे कई फायदे होंगे।

1). Health care — भविष्य में मनुष्य के शरीर की हलचल या गतिविधि को मशीन लर्निंग के माध्यम से सही तरीके से आंका जा सकेगा।

2).  Digital marketing —  इस क्षेत्र में कई संभावनाएं हैं पर इससे बनाए गए  डाटा से किसी भी कस्टमर को सही से टारगेट कर पाएंगे।

3).  Network security — आए दिन होने वाली हैकिंग से मशीन लर्निंग हमें बचाएगी साथ ही साथ अजनबी नेटवर्क के पकड़ने का  काम भी आसानी से किया जा सकेगा।

4).  Education — स्टूडेंट को बार-बार डाटा या इंफॉर्मेशन लेना नहीं पड़ता। एक बार डाटा स्टोर होने पर काम आसानी से ही हो जाता है।

अंतिम शब्द

इस प्रकार से हमने जाना कि Machine Learning क्या है और कैसे हमारे काम आ सकता है और भविष्य में भी बहुत तरह से काम आने वाला है। हमने पूरी कोशिश की है कि आपको पूरी जानकारी दी जा सके।

उम्मीद करते हैं आपको हमारे इस लेख से जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

Related Articles

1 comment

Vinay January 21, 2021 - 2:54 am

Thank you for this article

Reply

Leave a Comment